नई दिल्ली: हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री सरदार रवि रंजन सिंह पर मयूर विहार फेज 2 दिल्ली में कुछ अतिवादीओं ने हमला कर दिया| हिंदू महासभा इसके पीछे अवैध बांग्लादेशी समूह को दोषी बता रही है|

एक बयान में हिन्दू महासभा ने ये कहा है:

बांग्लादेशी मुसलमानो ने घात लगाकर हमला कर दिया और वो उस समय घर से बाहर निकल कर कहीं जा रहे थे । पिछले पांच वर्षों से सरदार रवि रंजन सिंह अपने क्षेत्र और दिल्ली के अन्य क्षेत्रो में अवैध मांस की दुकानों को बंद करवा चुके थे, जबकि मुस्लिम मांस व्यापारियों का आरोप है की सरदार रवि रंजन सिंह मात्र हलाल मांस की दुकानों को अपने निशाने पर ले रखे थे और उसकी जगह झटका मांस की दुकानों को स्थापित कर रहे थे ।

हिंदू महासभा ने ये बयान जारी करके बताया की सरदार रवि रंजन सिंह झटका माँस के लिए प्रयास कर रहे थे जो की हिंदू और सिख समुदाय के धर्म के अनुसार जायज़ है|

सरदार रवि रंजन सिंह का कहना है की हलाल मांस गैर मुसलमानों पर न थोपा जाय और उनका यह भी कहना है की हलाल को बढ़ावा देने का अर्थ अपनी ही मौत की सुपारी देने जैसा है ।

हिंदू महासभा ने ये भी कहा है की मयूर विहार फेज 2 दिल्ली के पास ही बांग्लादेशी मुसलमानों की बस्ती है जो की वहां के हलाल मांस की दुकानों के ग्राहक भी है स्थानीय पुलिस ने अभी तक हिन्दू महासभा के नेता पर हमला करने वालों को गिरफ्तार नहीं किया है ।

सरदार रवि रंजन सिंह की हालत अब खतरे से बाहर है और करीब 1.50 घंटे उनका आपरेशन चला ।

हिंदू महासभा ने चेतावनी दी है की यदि पुलिस कार्यवाही नही करती है तो वो उन अपराधियो की पहचान कर कार्यवाही करेंगे और उक्त स्थान को बांग्लादेशियो से मुक्त भी कराया जाएगा तथा दिल्ली में हिन्दू और सिख बाहुल्य क्षेत्रों हलाल मांस बिलकुल नही बिकेगा । हिंदू महासभा के सरदार रवि रंजन सिंह पत्रकार भी रह चुके हैं|

हिंदू महासभा के एक नेता कमलेश तिवारी काफ़ी समय से जेल में बंद हैं क्यूंकी उन्होने मुसलमान समुदाय की भावना को आहत किया था|