Select Page

नई दिल्ली: आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ) से जुड़े संगठन राष्ट्रीय मुस्लिम मंच ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को भेजा गया इफ्तार पार्टी का न्योता वापस ले लिया हैं। मंच ने दो जुलाई को पार्लियामेंट एनेक्स में होने वाली इफ्तार पार्टी में अब्दुल बासित को बुलाया था। लेकिन कश्मीर के पंपोर में हुए आतंकी हमले के विरोध में मंच ने बासित को दिया गया न्योता वापस ले लिया।

गौर हो कि शनिवार को कश्मीर के पम्पोर में आतंकियों ने सीआरपीएफ की एक बस पर हमला कर दिया था। इस हमले में आठ जवान शहीद हो गए और करीब 24 से ज्यादा घायल हो गए थे। आरएसएस ने पाकिस्तान जैसे मुस्लिम राष्ट्रों समेत कई देशों के राजदूतों को न्योता दिया था। आरएसएस का कहना है कि इस ‘इफ्तार’ पार्टी का मकसद एकता और सौहार्द का संदेश फैलाना और भारत को ‘दंगा-मुक्त’ देश बनाना है। इसने अपने सदस्यों को देशभर में छोटी-छोटी इफ्तार पार्टियां आयोजित करने को कहा है।