नयी दिल्ली, 21 जुलाई :: आयुष मंत्रालय मधुमेह की रोकथाम और इलाज के लिए अगले महीने विस्तृत मानक योग कार्यक्रम जारी कर सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले महीने योग से इस बीमारी के इलाज की अपील की थी।

आयुष मंत्रालय के सचिव अजीत एम शरन ने कहा, हम प्रोफेसर एच आर नागेंद्र के अंतर्गत और योग एवं आधुनिक विग्यान के अन्य विशेषग्यों को मिलाकर एक समिति गठित कर रहे हैं जो मानक योग कार्यक्रम तय करेगी। इस कार्यक्रम में योगाभ्यासों का एक विशेष समुच्चय होगा जो मधुमेह से लड़ने में मदद करेगा।

इस समिति में अखिल भारतीय आयुर्विग्यान संस्थान से एक चिकित्सक भी होगा । उसमें बाबा रामदेव के पंतजलि योगपीठ के शोध निदेशक के भी शामिल होने की संभावना है।

शरण ने कहा, ये विशेषग्य मधुमेह के विभिन्न प्रकारों एवं चरणों के लिए योगाभ्यासों की सिफारिश करेंगे।

मधुमेह के लिए योग प्रक्रिया तय हो जाने के बाद उसकी वैधता शोध परियोजना शुरू की जाएगी। मंत्रालय मधमेह रोगियों के लिए विकसित योगाभ्यास को लोकप्रिय बनाने के लिए मीडिया अभियान चलाएगा।

पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर करीब 30000 सहभागियों को संबोधित करते हुए मादी ने इस साल को मधुमेह से लड़ने के प्रति समर्पित किया था।