Select Page

फरीदाबाद.अानेवाले दिनों में अस्पतालों में योग के जरिए भी मरीजों का इलाज किया जाएगा। इसे लेकर एनएच-3 स्थित ईएसआईसी मेडिकल कालेज अस्पताल में रिसर्च की जा रही है। इसमें देखा जा रहा है कि योग किन-किन बीमारियों को कंट्रोल करने में अधिक मददगार है। ईएसआई मेडिकल कालेज में पायलट प्रोजेक्ट के तहत योग रिसर्च लैब पर काम शुरू हो गया है। इसके तहत रिसर्च खुद फैकल्टी मेंबर पर की जा रही है। इसमें प्रतिदिन कॉलेज के 21 फैकल्टी हिस्सा ले रहे हैं।

यह रिसर्च कॉलेज के डीन डा. सीम दास डिप्टी डीन एवं फिजियाेलॉजी डिपार्टमेंट के एचओडी डा. एके पांडेय की देखरेख में की जा रही है। इस रिसर्च में यह पता लगाया जाएगा कि योगा करने से किस-किस बीमारी में लाभ ज्यादा मिलता है। इसके लिए योगा वर्कशॉप से पहले सभी फैकल्टी की विभिन्न पैरामीटर पर स्वास्थ्य जांच की गई। योगा की वर्कशॉप के पूरा होने के बाद दोबारा उन्हीं पैरामीटर पर हेल्थ टेस्ट किया जाएगा। इसके रिजल्ट के आधार पर ही आगे की रिसर्च तय होगी।
मेडिकल कालेज के डिप्टी डीन डा. एके पांडेय ने बताया कि योगा पर रिसर्च का यह पायलट प्रोजेक्ट पहली बार शुरू किया जा रहा है। इसके तहत मधुमेह, हृदय, फेफड़े, ब्लड प्रेशर, मोटापे से संबंधित बीमारियों पर रिसर्च की जा रही है। इसके तहत सभी 21 फैकल्टी मेंबर का 15 जुलाई से 16 जुलाई तक ईसीजी, ब्लड प्रेशर, ब्रीथिंग टेस्ट, हाइट, वेट सभी का टेस्ट किया गया। इसका अलग डाटा तैयार किया गया।

18 से 30 जुलाई तक सभी फैकल्टी मेंबर को योगा वर्कशॉप दी जाएगी। 30 जुलाई तक वर्कशॉप पूरी होने के बाद 1 अगस्त को सभी फैकल्टी मेंबर के दोबारा उक्त टेस्ट किए जाएंगे। 2 अगस्त तक इस पूरी रिसर्च की रिपोर्ट सामने जाएगी। डा. पांडेय का कहना है कि 2 अगस्त को आने वाली रिपोर्ट के आधार पर आगे की रिसर्च की जाएगी। अगर रिसर्च के परिणाम सकारात्मक सामने आते हैं तो भविष्य में स्टूडेंट्स पर रिसर्च की जाएगी।