बिहार के मशरक थाना क्षेत्र के दुमदुमा शिवमंदिर के पास एक युवक की हत्या मंगलवार की रात गले में फंदा डाल कर दी गई जिससे पुरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। मृत युवक की पहचान दुमदुमा शिव मंदिर के पुजारी उमेश गिरी के 20 वर्षीय पुत्र मनीष कुमार गिरी के रुप में हुई है।
पुजारी उमेश गिरी मूल रुप से इसूआपुर थानाक्षेत्र के अचितपुर के निवासी है लेकिन पूरे परिवार के संग मंदिर परिसर में ही वर्षों से रहते हैं। घटना की रात पूरा परिवार एक शादी समारोह से रात्रि 11 बजे लौटा। मनीष मंदिर के छत पर सोने चला गया और देर रात मोबाइल पर फोन आने पर नीचे क्या उतरा दुनिया से ही विदा हो गया।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी। खोजी कुते की मदद ली जा रही है। मृतक के गर्दन पर रस्सी का निशान है। आशंका है हत्या, गला घोटकर मंदिर के पीछे की गई है क्योंकि मंदिर के पीछे से शव घसीटना का निशान जीवंत था। चर्चा है कि हत्या प्रेम प्रसंग को लेकर हुई है। मृतक के बड़े भाई मिंटू कुमार गिरी के फर्दबयान पर प्राथमिकी दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिये छपरा भेजा गया।