Select Page

योग दिवस एक अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम जरूर है लेकिन इसकी आत्मा में भारत है। योग भारत का सबसे बड़ा ब्रांड है। आप ये भी कह सकते हैं कि योग सबसे प्राचीन Made In India प्रोडक्ट है जिसका आविष्कार भारत में हुआ। जिसे भारत में ही डिजाइन किया गया। योग पर सबसे बड़े प्रयोग भी भारत में ही हुए और आज पूरी दुनिया इस प्राचीन Made In India प्रोडक्ट यानी योग का इस्तेमाल कर रही है। योग का किसी राजनीतिक पार्टी से भी कोई लेना देना नहीं है।

योग आपके शरीर, आपके मन और आपकी आत्मा को शक्ति प्रदान करता है. योग दुनिया को भारत का सबसे बड़ा तोहफा है, क्योंकि योग पूरी दुनिया में करोड़ों लोगों के लिए सुख, शांति और स्वस्थ जीवन की कुंजी बन गया है। इसलिए योग के सम्मान में हर साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।

– 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र की महासभा में 193 देशों ने सर्वसम्मति से हर वर्ष 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव पास किया था।

– 21 जून को योग दिवस के रूप में मनाए जाने की अपील प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के देशों से की थी।

– पिछले वर्ष यानी 21 जून 2015 को दुनिया भर में पहली बार International Day of Yoga यानी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।

– दुनिया में दूसरी बार भव्य पैमाने पर योग दिवस का आयोजन मंगलवार को किया गया। पूरी दुनिया में जहां-जहां सूरज उग रहा था वहां लाखों की संख्या में लोग योगासन कर रहे थे। दुनिया भर के करीब 140 देशों के लोगों ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर योग किया।

– योग स्वस्थ जीवन जीने का एक ऐसा मंत्र है जिसके लिए आपको कोई पैसा खर्च नहीं करना होता। यानी ये दुनिया को भारत की तरफ से मिला ऐसा तोहफा है जो अमूल्य है।

– पूरी दुनिया में करीब 30 करोड़ लोग नियमित तौर पर योग करते हैं और हर साल योग करने वाले लोगों की संख्या तेज़ी से बढ़ रही है। अगर योग करने वाले लोगों का एक अलग देश बना दिया जाए तो वो दुनिया में जनसंख्या के मामले में चीन, भारत और अमेरिका के बाद चौथे स्थान पर होगा.

– पूरी दुनिया में योग का बाज़ार 5 लाख 40 हज़ार करोड़ रुपये का हो चुका है।

– दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका भी योग की शक्ति को नमन कर रहा है पूरी दुनिया में योग का आधे से ज्यादा कारोबार अमेरिका में ही होता है।

– अमेरिका में योग से जुड़े सामान जैसे कपड़े, मैट और उपकरणों का कोराबार 1 लाख 8 हज़ार करोड़ रुपये से ज्यादा का है।

– अमेरिका में योग की कुल मार्केट 1 लाख 80 हज़ार करोड़ रुपये से ज्यादा की है।

– योग को जन्म देने वाले भारत में योग से जुड़े सामान का कारोबार 2016 में मात्र 1 हज़ार करोड़ रुपये का है। ये अमेरिका के मुकाबले बहुत कम है।

– भारत में योग करने वालों की संख्या में एक वर्ष में 25 से 30 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

– एसोचैम ने भारत के 10 शहरों में एक सर्वे के ज़रिए ये पता लगाया कि भारत के कॉरपोरेट सेक्टर की 53 प्रतिशत कंपनियां अपने कर्मचारियों को योग सिखा रही हैं।

– एक आंकड़े के मुताबिक भारत में करीब 4 करोड़ लोग नियमित रूप से योग करते हैं जबकि अमेरिका की कुल आबादी में से 15 प्रतिशत लोग योग का अभ्यास करते हैं। अमेरिका में योग करने वालों की संख्या वर्ष 2016 में 3 करोड़ से ज्यादा हो चुकी है।

– अमेरिका में हुए एक सर्वे में ये भी पता चला कि योग करने वाले 50 प्रतिशत लोग, पर्यावरण के अनुकूल जीवन जीते हैं। भोजन को बर्बाद नहीं करते और अपने समुदाय की मदद करते हैं।

– सर्वे में ये भी पता चला कि योग करने वाले लोग..योग ना करने वाले लोगों के मुकाबले दोगुना Organic Food खाते हैं जिससे स्वास्थ्य और पर्यावरण दोनों का बचाव होता है।

– योग सिर्फ एक Exercise नहीं बल्कि जीवन जीने का तरीका है जो व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से मज़बूत और खुशहाल बनाता है।

– योग का इतिहास करीब 5 हज़ार साल पुराना है। योग शब्द का सबसे प्राचीन उल्लेख ऋगवेद में मिलता है। हिंदू मान्यताओं के मुताबिक भगवान शिव को सबसे बड़ा योगी माना गया है।

– American Institute of Vedic Studies के मुताबिक भगवान शिव योग के Grand मास्टर हैं।

– भगवान शिव के नटराज अवतार यानी नृत्य करते हुए शिव की अलग अलग मुद्राएं  84 लाख आसनों को जन्म देती है।

– महर्षि पतंजलि को योग का जनक यानी Father of Yoga  कहा जाता है।

– ऋषिकेश को भारत में योग की राजधानी कहा जाता है और वहां दुनिया भर के देशों से आए लोग योग अभ्यास करते हैं।

– ऋषिकेश में हर साल अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का आयोजन भी किया जाता है, जिसमें 60 से ज्यादा देशों के लोग हिस्सा लेते हैं।

– सूर्य नमस्कार योग के सबसे मशहूर आसनों में से एक है। सूर्य नमस्कार में 12 अलग-अलग तरह के आसन एक साथ किए जाते हैं।

– 30 मिनट तक सूर्य नमस्कार करने से 430 calories Burn  होती है जबकि 30 मिनट तक Weight lifting करने से 199 calories और 30 मिनट तक दौड़ने से 414 calories खर्च होती है।