Select Page
रामपुरके डंसा पंचायत में परशुराम मंदिर समिति के द्वारा आयोजित शिकारी माता मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का समापन देवताओं की विदाई के साथ संपन्न हुआ। तीन दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान के अंतिम दिन दुर्गा पाठ पूर्णाहुति, शिखा पूजन और भंडारे का आयोजन किया गया। धार्मिक अनुष्ठान में नोगवैली के अलावा बाहरी क्षेत्रों से हजारों की संख्या में श्रद्घालुओं ने भंडारे में बढ़चढ़ कर भाग लिया।

 

इस मौके पर रेडक्राॅस सोसाइटी की उपाध्यक्षा प्रतिभा सिंह बतौर मुख्यातिथि उपस्थित रही। उनके साथ सीपीएस नंदलाल विशेष अतिथि मौजूद रहे। मुख्यातिथि ने क्षेत्र के लोगों की पिछले कई वर्षों से चली रही जीप योग्य सड़क की मांग प्राथमिकता के आधार पर शिकारी मंदिर तक पहुंचाने के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए। इससे पहले स्नेई से शिकारी मंदिर के लिए 20 लाख की लागत से तैयार उठाऊ पेयजल योजना को मुख्यातिथि प्रतिभा सिंह ने जनता को समर्पित किया। वहीं, सीपीएस नंदलाल ने लाखों की लागत से बनी शिकारी मंदिर सरायं भवन का भी लोकार्पण किया। सीपीएस ने मंदिर समिति को भंडारे आयोजन के लिए अपनी ऐच्छिक निधि से 40 हजार रुपए देने की घोषणा की। इस मौके पर चंद्र प्रभा नेगी, पंचायत प्रधान पदमा कुमारी, परशुराम मंदिर समिति प्रधान खेल चंद नेगी, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सतीश वर्मा, ब्लॉक कांग्रेस मिडिया प्रभारी अनिरुद्ध बिष्ट, सत्याभूषण, पार्षद चुडामणी मौजूद रहे।

रामपुर के डंसा में शिकारी माता मंदिर में सराह भवन का लोकार्पण करते हुए सीपीएस नंदलाल।

इन देवताओं ने निभाई प्राण प्रतिष्ठा में अहम भूमिका

देवतासाहिब जाख रचोली, देवता साहिब यज्ञेश्वर शिंगला, जारू नाग शनेरी, दोगलू देवता लालसा के साथ मेजबान देवता दमुख डंसा ने इस प्राणप्रतिष्ठा में अहम भूमिका निभाई। इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों से आए श्रद्घालुओं ने देवताओं से सुख समृदि का आर्शिवाद लिया। कार्यक्रम के अंत में देवलु और स्थानीय लोग देवताओं के साथ झुमे। कार्यक्रम के अंत में परशुराम मंदिर समिति ने सभी देताओं को नजराना के तौर पर 51-51 सौ रुपए की राशि भेंट की।

रामपुर के शिकारी माता मंदिर में देवलु देवताओं के साथ।

Global Press से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!