इंदौर/खंडवा।खंडवा के दादाजी धाम में भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा है। सोमवार से शुरू हुए गुरु पूर्णिमा महोत्सव में मंगलवार सुबह तक करीब 1.5 लाख श्रद्धालु दादाजी के दरबार में शीश झुका चुके है।दरबार में रातभर दर्शन के लिए लंबी कतारें लगी रही।उधर पूरे शहर में भंडारे चल रहें हैं।लोग मेहमानों की तरह श्रद्धालुओं की आवभगत कर रहें हैं। पढ़ें, चमत्कारी थे दादाजी, अग्नि के सामने बैठकर करते थे बात…

-यहां बड़े दादाजी केशवानन्द जी महाराज और छोटे दादाजी हरिहरानन्द जी महाराज की समाधि है। बड़े दादाजी हमेशा अग्नि के सामने ही बैठते थे।

– वे अग्नि को ईश्वर का प्रतीक मानते थे। उनके चमत्कार के कई किस्से प्रचलित है।

– सोमवार को दिन भर खंडवा में लोगों का तांता लगा रहा। दादाजी दरबार तक के रास्तों पर पुलिस ने जगह-जगह बेरिकेट्स लगाकर ट्रैफिक कंट्रोल किया।
– दरबार की परंपरा के अनुसार ढोल-ढमाके के साथ दूर-दूर से आए श्रद्धालुओं ने समाधि पर निशान चढ़ाए। ट्रस्टी सुभाष नागौरी ने बताया कि दिन भर में समाधि पर करीब दो हजार निशान चढ़ाए गए।
– रात भर दादाजी के दरबार में लोगों की भीड़ लगी रही। लंबी कतारों में लगाकर लोगों ने समाधि के दर्शन किए।
– समाधि पर 19 किलो वजन की चांदी की टेबल चढ़ाई गई। इसे खामगांव के भक्तों ने बनवाया था।
– शहर में दो सौ से भी ज्यादा जगह भंडारे चल रहें हैं। कहीं लोगों को पंगत में बैठाकर प्रसाद दिया जा रहा है तो टेबल्स पर बुफे की व्यवस्था की गई है।
– सेवा में लगे लोग श्रद्धालुओं का स्वागत मेहमानों की तरह कर रहें हैं।शहर के लोगों ने श्रद्धालुओं के ठहरने, खाने और आने-जाने की निशुल्क व्यवस्था की है।
– मंदिर परिसर में 40 सीसीटीवी कैमरे से निगरानी रखी जा रही है।

100 डिब्बे देसी घी और 31 क्विंटल बेसन और शक्कर से बना प्रसाद

– दादाजी दरबार में भक्तों को बूंदी का प्रसाद दिया जाता है। मंदिर आने वाले हर भक्त को प्रसाद का एक पैकेट दिया जाता है।

– इस बार 100 डिब्बे देसी घी ,31 क्विंटल बेसन और शक्कर से प्रसाद बनाया गया है।
-दादाजी धाम के अध्यक्ष सुभाष नागौरी के मुताबिक़ मंगल और बुधवार को कुल मिलाकर करीब 7 लाख भक्तों के आने की संभावना है।
108 दीपकों से होगी महाआरती…
-सुबह 9.30 से 10 बजे तक समाधि सेवा
-दोपहर 3 से शाम 5 बजे तक समाधियों की मालिश और अभिषेक होगा।
– शाम 5 से 5.30 बजे तक छोटी आरती।
– शाम 6 से शाम 7 बजे तक सत्यनारायण भगवान की आरती कथा होगी।
-रात 8:30 से 9.15 बजे तक 108 दीपक से होगी बड़ी आरती।
– रात 10 .30 से 10 बजे तक समाधि सेवा होगी।
-रात 12 बजे होगा बड़ा हवन।