जिलेभरमें मंगलवार को गुरु पूर्णिमा महोत्सव पर विभिन्न कार्यक्रम होंगे। बुधवार से सावन मास शुरू होने के साथ ही शिवालयों में भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना शुरू हो जाएगी। शिवालयों में सावन मास की तैयारियां चल रही हंै। मंगलवार को शिष्यों द्वारा गुरु पूजन किया जाएगा।

 

शहर के दुधिया बालाजी संत आश्रम में सुबह 9 से 12 बजे तक कृष्णदास फलहारी बाबा का अभिषेक आचार्य बेणी प्रसाद शर्मा द्वारा करवाया जाएगा। दोपहर तीन बजे बाद से शाम 5 बजे तक महिला मंडल द्वारा हरिराम संकिर्तन कार्यक्रम होगा। शाम 6 बजे से महाप्रसादी, रात 9 बजे भक्ति संगीत कार्यक्रम आयोजित होगा। इसी प्रकार शहर के आतरिया बालाजी सहित कई मंदिरों आदि में गुरुपूर्णिमा पर कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएगे।

पंडित पवन सागर ने बताया कि गुरू पूर्णिमा पर मंदिराें में धार्मिक कार्यक्रम आयोजित होगें। गुरु का पुजन किया जाएगा इस अवसर पर भक्तजनों द्वारा श्रीफल, वस्त्र आदि अर्पित किए जाएंगें। उन्होने बताया कि गुरू पूर्णिमा से ही सावन मास की शुरूआत जाती है। विभिन्न मंदिरों में सावन के झूले लग जाएंगे। वही बुधवार से शिवालयों में शिवनांद गुंजेगा। इस अवसर पर शिव स्तुति के साथ ही श्रद्वालुओं द्वारा भगवान शिव का जलाभिषेक कर विल्व पत्र अपिर्त कर पूजा अर्चना की जाएगी। सावन मास में अभिषेक, संहस्त्रधट आदि कार्यक्रम आयोजित होंगे। रामद्वारा में गुरु पूर्णिमा के अवसर पर मंगलवार को सुबह 7 बजे से गुरू पूजा एवं अर्चना, 10.30 से 11. 30 बजे तक गुरु आशीर्वाद एवं प्रवचन होगें।

पीपलू|हाडीकलामें नृसिंह आश्रम में गुरु पूर्णिमा महोत्सव मनाया जाएगा। यह जानकारी महंत बालकदास ने दी। इसी तरह चूली के प्राचीन शिवालय रामघाट में महामण्डलेश्वर रामप्रियदास तथा सोप में लालदास महाराज के सान्निध्य में गुरु पूर्णिमा महोत्सव मनाया जाएगा।

राजमहल|क्षेत्रके रामपुरा गांव में रामजी बाबा गुरु आश्रम में गुरु पूर्णिमा महोत्सव मनाया जाएगा, जिसमें मंगलवार को शोभायात्रा के साथ प्रसादी वितरित की जाएगी। सूरजकरण महाराज ने बताया कि मंगलवार को शोभायात्रा तथा प्रसादी वितरित की जाएगी। इसी प्रकार राजमहल स्थित चेतन महाराज की समाधि स्थल पर प्रसादी वितरण कार्यक्रम होगा।

देशभरसे पहुंचे श्रद्धालु

निवाई| श्रीगुरु पूर्णिमा महोत्सव के अन्तर्गत सोमवार को श्रीमद् भागवत गीता पाठ की पूर्णाहुति के साथ ही हरिनाम संकीर्तन के पाठ शुरू हुए। समिति के रवि अग्रवाल राजू खण्डेलवाल ने बताया कि पवित्र ग्रन्थ गीताजी के अखण्ड पाठ की पूर्णाहुति के साथ ही 24 घण्टे के लिए हरिनाम संकीर्तन का शुभारंभ हुआ। संकीर्तन अनवरत मंगलवार की सुबह 5 बजे तक चलेगा। मंगलवार की सुबह गुरू पूर्णिमा के पावन अवसर पर ब्रह्मलीन कृष्णानन्दजी महाराज की पादुकाओं की पूजा की विधि विधान से देशभर से आए श्रद्धालु पूजा करेगें। महोत्सव में देश के कलकता, पंजाब, उत्तर प्रदेश, मुम्बई, गुजरात, नागपुर, दिल्ली प्रदेश सहित राजस्थान प्रदेश के सीकर, रतनगढ, चूरू, जयपुर, सवाईमाधोपुर, टोंक, लालसोट, दौसा, झुन्झुनू, नवलगढ सहित अनेक शहरों से श्रद्धालु महोत्सव में शामिल होने के लिए पहुंच चुके हैं।

महोत्सव में शामिल होने हजारों श्रद्धालु के चलते कृषि मंडी परिसर में मेले जैसा माहौल है। पिछले चार दिनों से धार्मिक आयोजनों के चलते पूरा क्षेत्र धर्ममय हो गया है। संचालन समिति के शीतल प्रसाद टोडवाल, बृजमोहन खण्डेलवाल, कैलाश अग्रवाल, नाथूलाल शर्मा, बद्रीनारायण पारीक, राजेन्द्र टोडवाल, रमेश पाटोदिया शिवाड, शिवकुमार घीया, महेश टोडवाल, हनुमान पारीक, कुंजबिहारी खण्डेवाल, जगदीश टोडवाल, रामकिशन टोडवाल, मुकेश टोडवाल, सरोज अग्रवाल, मधुलता पलेई, प्रेमलता खण्डेलवाल, ललिता नाटाणी, संतोष गुप्ता, कल्पना गुप्ता, अमित धामाणी सहित कई श्रद्धालु व्यवस्थाओं में जुटे हुए हंै।

निवाई. सोमवारको गुरु पूर्णिमा महोत्सव के तहत देश भर से आए श्रद्धालु संकीर्तन करते।