Select Page

दुनिया में प्रकृति के ऐसे कई अजूबे हैं जिन पर भरोसा करना थोड़ा मुश्किल होता है। भारत में भी ऐसे कई अजूबे मौजूद हैं जिनमें से एक है कर्नाटक के कन्नडा जिले का सहस्त्रलिंगा। आपको बता दें कि यहां बहने वाली शामला नदी में प्राकृतिक तौर पर ही हज़ारों की संख्या में शिवलिंग पाए जाते हैं।

क्या है मामला

कर्नाटक की शामला नदी को यहां के लोग गंगा की तरह पवित्र नदी मानते हैं। इस नदी में सिर्फ शिवलिंग ही नहीं बल्कि कई अन्य तरह की कलाकृतियां भी दिखाई देती हैं। विज्ञानियों के मुताबिक नदी के पानी की धारा से ये शिवलिंग और अन्य आकृतियां अस्तित्व में आई हैं। बता दें कि गर्मियों में जब पानी का लेवल कम होने लगता है तो नदी का नज़ारा देखने लायक होता है।

क्या है मान्यता

लोगों की मान्यता है कि इन शिवलिंगों का निर्माण राजा सदाएश्वर्य ने 17वीं शताब्दी में कराया था। बता दें कि ऐसे ही कुछ शिवलिंग दक्षिण एशियाई देश कंबोडिया के मशहूर मंदिर अंगकोर वाट में भी देखने को मिलते हैं, जिसे केब्ल स्पीन के नाम से जाना जाता है। इसका मतलब होता “मुंडों का पुल” है। इसके अलावा यहां पर कई अन्य कलाकृतियां भी हैं, इनमें से किसी पर बंदर और बत्तख के बीच महिला है, तो कहीं ब्रह्मा जी हैं।

Source: thousands of shiva lingas in the shamala river karnataka – LiveHindustan.com