नई दिल्ली। सरकार ने डाक घरों के माध्यम से ऋषिकेष और  गंगोत्री से 200 मिली और 500 मिली की बोतलों में गंगाजल बांटने की व्यवस्था की है। संचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने आज राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लोगों तक गंगाजल डाक के माध्यम से पहुंचाया जा रहा है और ऋषिकेष और गंगोत्री से 200 मिली और 500 मिली की बोतलों में गंगाजल के वितरण की व्यवस्था की गई है।

सिन्हा ने बताया कि यह सुविधा देश में प्रधान डाकघरों के माध्यम से उपलब्ध कराई गई है और इसे डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट ईपोस्टऑफिस डॉट जीओवी डॉट इन वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन मंगवाया जा सकता है। ऑनलाइन लागत में स्पीड पोस्ट प्रभार शामिल हैं।

अब डाक से घर-घर पहुंच सकेगा गंगा जल

सरकार ने डाक घरों के माध्यम से ऋषिकेष और गंगोत्री से 200 मिली और 500 मिली की बोतलों में गंगाजल बांटने की व्यवस्था की है।

 

 

उन्होंने बताया कि ऋषिकेष से 200 मिली गंगाजल डाकघर काउंटर पर 15 रुपये में और ऑनलाइन 101 रुपये में उपलब्ध है। घर पर इसे पहुंचाने में लागत 28 रुपये आएगी। ऋषिकेष से 500 मिली गंगाजल डाकघर काउंटर पर 22 रुपये में और ऑनलाइन 151 रुपये में उपलब्ध है। घर पर इसे पहुंचाने में लागत 38 रुपये आएगी। गंगोत्री से 200 मिली गंगाजल डाकघर काउंटर पर 25 रुपये में और ऑनलाइन 101 रुपये में उपलब्ध है। घर पर इसे पहुंचाने में लागत 38 रूपये आएगी। गंगोत्री से 500 मिली गंगाजल डाकघर काउंटर पर 35 रुपये में और ऑनलाइन 151 रूपये में उपलब्ध है। घर पर इसे पहुंचाने में लागत 51 रुपये आएगी।

सिन्हा के अनुसार, घर पर वितरण से तात्पर्य यह है कि ग्राहक निकटतम डाकघर में ऑर्डर कर सकता है और गंगाजल की सुपुर्दगी उसके घर पर कर दी जाती हैं। लागत में स्पीड पोस्ट प्रभार शामिल नहीं है।