मेरठ (उत्तरप्रदेश) : खरखौदा थाना क्षेत्र के हापुड़ रोड स्थित जाहिदपुर गांव में सोमवार रात सांप्रदायिक तनाव हो गया। गांव के प्राचीन शिव मंदिर में रात लगभग साढ़े सात बजे अल्पसंख्यांक समुदाय के युवकों ने पुजारी से बदसलूकी कर आरती रुकवा दी। मंदिर के लाउडस्पीकर में बज रहे भजनों को बंद करा दिया। सामान भी बिखेर दिया आैर सब धमकी देकर फरार हो गए।

जाहिदपुर गांव के प्राचीन शिव मंदिर में शिव स्वरुप पांडे पुजारी हैं। पुजारी के अनुसार, सोमवार सायंकाल वे मंदिर में आरती कर रहे थे, तभी गांव का शौकीन कई युवकों संग मंदिर में घुस गया। आरती रुकवाई, विरोध करने पर पुजारी से हाथापाई कर दी। लाउडस्पीकर के तार खींच दिए आैर धमकी देकर भाग गए। शोर मचाने पर ग्रामीण मंदिर के सामने पहुंचे और प्रकरण जानने के बाद नारेबाजी की।

सूचना पर पुलिस-प्रशासन मौके पर पहुंचे। नारेबाजी कर रहे ग्रामीणों को शांत किया। इसी बीच गांव के धर्मांध युवक उस्मान और शौकीन मौके पर पहुंचे, जहां वह शौकीन का पक्ष लेने लगे। पुलिस ने दोनों युवकों को हिरासत में थाने पहुंचाया।