विवादित इस्लामिक धर्म प्रचारक जाकिर नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) के बारे में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। इसके अनुसार, संस्था 50 हजार रुपये देकर लोगों का धर्मांतरण कराती थी। नाइक की संस्था अब तक करीब 800 लोगों का धर्मांतरण करा चुकी है। यह संख्या बढ़ भी सकती है।

अरशी की गिरफ्तारी से खुली पोल: मुंबई पुलिस ने बताया कि यह खुलासा आईआरएफ में गेस्ट रिलेशन आफिसर अरशी कुरैशी की गिरफ्तारी के बाद हुआ है। वह धर्म परिवर्तन कराने के काम में सीधे तौर पर शामिल है। इसमें उसका सहयोगी रिजवान खान है। उसे भी गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों की गिरफ्तारी केरल में धर्मांतरण के एक मामले में की गई थी।

वाउचर से भुगतान: पुलिस के मुताबिक,रिजवान मौलवी भी है। वह धर्मांतरण के लिए तैयार लोगों को निकाह भी पढ़ाया करता था। इन सारी प्रक्रियाओं को पूरी करने के बाद रिजवान प्रति व्यक्ति वाउचर बनाता था और अरशी उसके हिसाब से आईआरएफ की ओर से रिजवान को भुगतान कराता था। आईआरएफ को सऊदी अरब सहित कई देशों से फंड मिलते हैं और उसी में से रिजवान को पैसे दिए जाते थे। प्रति वाउचर कम से कम 50 हजार का भुगतान होता था।

पहले तैयार करते थे: पूछताछ में पता चला कि अरशी और रिजवान लोगों को पहले मानसिक रूप से तैयार करते थे और फिर उनका धर्मांतरण करवाते थे। रिजवान आईआरएफ के अलावा मझगांव स्थित एक और संस्था अल-बिर्र फाउंडेशन के लिए भी काम करता है। यहां भी यही काम होता है। अरशी के डोंगरी स्थित दफ्तर में सभी दस्तावेज तैयार किए जाते थे।

मुंबई पुलिस ने जांच का दायरा बढ़ाया

जाकिर के खिलाफ चल रही जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है। पुलिस ने बताया कि उसे अरशी और रिजवान के सहयोगियों की जानकारी मिली है। वह जल्द ही इन लोगों से पूछताछ करेगी। माना जा रहा है कि धर्मांतरण में वे इनकी मदद करते थे।

अंतिम रिपोर्ट में जिक्र होगा

मुंबई पुलिस की विशेष शाखा जाकिर और उनकी संस्था आईआरएफ के खिलाफ अपनी अंतिम जांच रिपोर्ट में धर्मांतरण संबंधी खुलासों का भी उल्लेख करेगी। यह रिपोर्ट मुंबई पुलिस आयुक्त दत्तात्रय पडसलगिकर को सौंपी जाएगी।

मुश्किलें बढ़ेंगी

इससे पहले जाकिर नाइक के खिलाफ प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपी गई थी। इसमें भाषणों में आपत्तिजनक अंश मिले थे। लेकिन उसके भाषणों में भड़काऊ या भारत विरोधी अंश नहीं थे। लेकिन धर्म परिवर्तन कराने वाले खुलासे के रिपोर्ट में शामिल होने से जाकिर की मुसीबतें बढ़ जाएगी।

LEAVE A REPLY