मुंबई : शिवसेना ने सरसंघचालक मोहन भागवत के राम मंदिर निर्माण पर दिए उस बयान का समर्थन किया है जिसमें उन्होंने कहा है कि मेरे जीते जी राम मंदिर बनेगा, लेकिन तारीख का पता नहीं। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में भागवत के बयान की तारीफ करते हुए मोदी सरकार पर तंज भी कसा है।

सामना ने लिखा है कि ‘केंद्र में भाजपा की हिंदुत्ववादी सरकार है लेकिन राम मंदिर, जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 जैसे मुद्दों को बस्ते में बांधकर कामकाज चलाया जा रहा है। ऐसे में भाजपा के सामने बड़ा सवाल यह है कि मोहन भागवत की राम मंदिर निर्माण की घोषणा के बाद क्या बोला जाए।’

पार्टी ने मुखपत्र के ताजा संपादकीय में लिखा है कि ‘शिवसेना संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान का समर्थन करती है और इस मुद्दे पर उनके साथ है।’ इसके आगे भाजपा नीत केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए लिखा है कि ‘आरक्षण और राम मंदिर जैसे बयानों और भागवत की भूमिका से भाजपा के शरीर में कोई सिहरन आई हो या रोमांच हुआ, हम बता नहीं सकते।’

शिवसेना ने कहा- ‘हम मानते हैं कि निश्चित तौर पर पीएम नरेंद्र मोदी में राम मंदिर निर्माण की हिम्मत है। जिस दिन वह इस निर्माण कार्य को अपने हाथों में लेंगे, उनकी अफलातून लोकप्रियता में भारी इजाफा होगा। लेकिन अमित शाह का 380 सांसदों के बयान के बीच भाजपा को यह नहीं भूलना चाहिए जब उनके सांसदों की संख्या महज 2 थी तब इसी पार्टी के नेताओ ने रण क्रंदन किया था।’

LEAVE A REPLY