पूंछ, जून 20, 2016: जम्मू के पूंछ इलाक़े में फिर से हिंसा की कोशिश की गयी| पूंछ के झुलास गाँव में एक मंदिर के लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर इस बार बवाल हुआ है|

एक समुदाय विशेष की महिला और उसके साथ एक लड़के ने मंदिर में इस्तेमाल होने लाउडस्पीकर पर आपत्ति जताई थी जिसके बाद भीड़ ने मंदिर में घुसने की कोशिश की| पर मंदिर के अंदर लोगों ने इसका विरोध किया और मंदिर को सुरक्षित रखा|

इसके बाद दोनो तरह से ज़बरदस्त नारेबाज़ी हुई और मौके पर पुलिस ने मामला शांत करवाया| पर यहाँ हालात अभी भी सुधरे नहीं हैं और वहाँ पर लोग लगातार होते मंदिरों पर हमलों से आक्रोशित हैं|

इसे पहले उधमपुर से भी कुछ ऐसी ही खबरें आई थीं|

जम्मू में इस तरह की हिंसा असामान्य है और ऐसा कहा जा रहा है की इसमें किसी की सोची समझी साजिश है| जम्मू में हिंदू बहुसंख्या में हैं|

हाल ही में कश्मीरी पंडितों के जत्थे पर भी पत्थरबाज़ी हुई थी जिसके बाद माहौल गरमा गया था|

नानक नगर का किस्सा अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था की इस एक और कांड ने यहाँ के वासियों की नींद उड़ा कर रख दी है| जम्मू कश्मीर में भाजपा और पीडीपी की गठबंधन सरकार है|

सबसे ताज्जुब की बात ये है की इस तरह की घटनायें आज कल पश्चिम बंगाल और कश्मीर से ही ज़्यादा आती रही हैं, पर इस बार जैसे जम्मू पर किसी की नज़र लग गयी है| आख़िर किसको यहाँ की शांति से परहेज़ है? सरकार को चाहिए की शरारती तत्वों पर लगाम कसे क्यूंकी ये मुद्दे बेहद संवेदनशील होते हैं|

कश्मीर में हाल ही में एक स्कूल की टीचर को अबाया ना पहनने का फरमान सुनाने पर लोगों में आक्रोश है| और अब अगर जम्मू भी शांत नहीं रहेगा तो सरकार की चिंता बढ़ना स्वाभाविक ही होगा|

LEAVE A REPLY