सुप्रसिद्ध बांकेबिहारी की चौखट पर पहुंचे कथित रिश्वत के मामले में मंदिर प्रबंधन हरकत में आ गया है। मंदिर प्रबंधन इस मामले में जांच पड़ताल कर सुप्रसिद्ध भजन गायक और ठेकेदार को नोटिस दे सकता है। इस पर विधिक राय ली जा रही है।

दो दिन पूर्व भजन गायक रसिका पागल और मथुरा के ताराचंद ठेकेदार के बीच कथित पचास हजार रिश्वत की लेन-देन का मामला ठा. बांकेबिहारी की चौखट पर पहुंचा था। मंदिर की देहरी पर रखे गए पचास हजार रुपये रसिका पागल के एक मोदीनगर निवासी शिष्य ने उठा लिए और झूठ-सच का फैसला हो गया। इस घटना के बाद मंदिर प्रबंधन ने मीडिया रिपोर्ट से जानकारी होने पर अपने स्तर पर जांच शुरू कर दी है। सीसीटीवी रिकॉर्ड भी खंगाला गया। बांकेबिहारी प्रबंध कमेटी के प्रवक्ता दिनेश गोस्वामी ने बताया कि मंदिर की देहरी पर रखी गई धनराशि मंदिर की होनी चाहिए। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पचास हजार रुपये रखे गए, जो बांकेबिहारी के हुए। इस मामले में जांच पड़ताल की जा रही है, साथ ही विधिक राय भी ली जा रही है। कानूनी राय के बाद दोनों पक्षों को नोटिस दिया जा सकता है।

LEAVE A REPLY